.

New Article

Wednesday, February 6, 2013

तन स्वदेशी

ये कैसी अजीब विडम्बना है हमारे देशवासियों की कि .... सिर पर बाल स्वदेशी लकिन शेम्पू विदेशी आँख स्वदेशी लकिन चश्मा विदेशी दांत स्वदेशी लकिन दन्त मंजन विदेशी तन स्वदेशी लकिन कपड़ा विदेशी पैर स्वदेशी लकिन जूते विदेशी घर में कुत्ता विदेशी, घोड़ा विदेशी, गाय विदेशी और न जाने क्या क्या विदेशी..... आखिर ये बात कब समजेगें हमारे देश के लोग कि.......... विदेशी वस्तुओं का प्रयोग करना गर्व की नहीं शर्म की बात है| स्वेदेशी अपनाओ देश बचाओ||

from :
Subhash Rana swedeshi aapnaye

No comments:

Total Pageviews

Video

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Pages

ShareThis