.

New Article

Wednesday, December 28, 2016

33 करोड नहीँ 33 कोटि देवी देवता हैँ हिँदू धर्म मेँ


*33 करोड नहीँ33 कोटि देवी देवता हैँ हिँदू धर्म मेँ*।
*कोटि = प्रकार*।
देवभाषा संस्कृत में कोटि के *दो अर्थ* होते है, कोटि का मतलब *प्रकार* होता है और एक अर्थ *करोड़* भी होता। हिन्दू धर्म का दुष्प्रचार करने के लिए ये बात उडाई गयी की हिन्दुओ के ३३ करोड़ देवी देवता हैं और अब तो मुर्ख हिन्दू खुद ही गाते फिरते हैं की हमारे ३३ करोड़ देवी देवता हैं........
*कुल 33 प्रकार के देवी देवता हैँ हिँदू धर्म मेँ*:
*12 प्रकार हैँ आदित्य*:
धाता, मित, आर्यमा, शक्रा, वरुण, अँश, भाग, विवास्वान, पूष, सविता, तवास्था, और विष्णु...!
*8 प्रकार हैँ वासु*:
धर, ध्रुव, सोम, अह, अनिल, अनल, प्रत्युष और प्रभाष।
*11 प्रकार हैँ- रुद्र*
हर, बहुरुप,त्रयँबक,अपराजिता, बृषाकापि, शँभू, कपार्दी, रेवात, मृगव्याध, शर्वा, और कपाली।
एवँ दो प्रकार हैँ *अश्विनी* और *कुमार*।
*कुल*: 12+8+11+2 = 33
अपनी भारत की संस्कृति को पहचाने
ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुचाये
यही है हमारी संस्कृति की पहेचान
( 1 ) *दो पक्ष*-
कृष्ण पक्ष , शुक्ल पक्ष !
( ०2 ) *तीन ऋण* -
देव ऋण , पितृ ऋण , ऋषि ऋण !
( ०3) *चार युग* -
सतयुग , त्रेतायुग , द्वापरयुग , कलियुग !
( 4) *चार धाम* -
द्वारिका , बद्रीनाथ , जगन्नाथ पूरी , रामेश्वरम धाम !
(5) *चारपीठ* -
शारदा पीठ ( द्वारिका ), ज्योतिष पीठ ( जोशीमठ बद्रिधाम ) , गोवर्धन पीठ
( जगन्नाथपुरी ) , श्रन्गेरिपीठ !
(6 ) *चार वेद*-
ऋग्वेद , अथर्वेद , यजुर्वेद , सामवेद !
( 7 ) *चार आश्रम* -
ब्रह्मचर्य , गृहस्थ , वानप्रस्थ , संन्यास !
(8) *चार अंतःकरण* -
मन , बुद्धि , चित्त , अहंकार !
(9 *पञ्च गव्य* -
गाय का घी , दूध , दही ,गोमूत्र , गोबर !
( 10 ) *पञ्च देव -
गणेश , विष्णु , शिव , देवी ,सूर्य !
( 11) *पंच तत्त्व* -
पृथ्वी , जल , अग्नि , वायु , आकाश !
( 12 ) *छह दर्शन* -
वैशेषिक , न्याय , सांख्य , योग , पूर्व मिसांसा , दक्षिण मिसांसा !
(13 ) *सप्त ऋषि* -
विश्वामित्र , जमदाग्नि , भरद्वाज , गौतम , अत्री , वशिष्ठ और कश्यप !
( 14 ) *सप्त पूरी* -
अयोध्यापूरी , मथुरा पूरी , माया पूरी ( हरिद्वार ) , काशी , कांची ( शिन कांची - विष्णु कांची ) , अवंतिका और द्वारिका पूरी !
(15 ) *आठ योग* -
यम , नियम , आसन , प्राणायाम , प्रत्याहार , धारणा , ध्यान एवं समाधी !
FOR ASTROLOGY www.hellopanditji.com, FOR JOB www.uniqueinstitutes.org

No comments:

Total Pageviews

Video

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Pages

ShareThis