.

New Article

Tuesday, August 14, 2018

कालसर्प दोष का उपाय


जीवन में निम्नलिखित समस्याओं में से कोई एक भी हो तो कालसर्प दोष के या पितृ दोष के लक्षण समझे

अकारण कलंकित या अपमानित होना।  
संतान नहीं होना या संतान की उन्नति नहीं होना।  
विवाह नहीं होना या वैवाहिक जीवन अस्त-व्यस्त होना।  
स्वास्थ्य  बार बार खराब रहना  
बार-बार चोट-दुर्घटनाएं होना। 
अच्छे किए गए कार्य का यश दूसरों को मिलना।  
 डरावने स्वप्न आना, सर्प बार-बार दिखना। 
मृत व्यक्ति स्वप्न में कुछ मांगे, बारात दिखना, जल में डूबना, मुंडन दिखना, अंगहीन दिखना। 
गर्भपात होना या संतान होकर नहीं रहना आदि लक्षणों में से कोई एक भी हो तो कालसर्प दोष की शांति करवाएं। 
यदि कोई जन्म कुंडली के अनुसार कोई समस्या है अधिक जानकारी या कुंडली   प्र्शन के लिए सशुल्क  परामर्श के लिए संपर्क करे  पंडित शैलेश pathak shubhkundli.com  paytm and call number  9812193781

कालसर्प दोष का उपाय 👇***
1, नाग नागिन का जोड़ा चांदी का  बनवाकर पूजन कर जल में बहाएँ
2, सपेरे से नाग का जोड़ा बनाकर मोली से लपेटकर जल में बहाएं
3, किसी शिव मंदिर में जहाँ शिवजी पर नाग नही हो , वहाँ प्रतिष्ठा करवारकर नाग चढ़ाएं
4, नागपंचमी को शिव मंदिर की सफाई , और मरम्मत तथा रँगाई पुताई करवाये
5, रसोईघर में बैठकर भोजन करे
 नागपंचमी पर करे मन्त्र जाप  👇**
1 ,   गं गणपतये नमः
2, नमो भगवते वासुदेवाय नमः
3, नवनाग स्तोत्र का पाठ करे
4, हनुमान चालीसा , सुंदरकांड , बटुक भैरव मन्त्र आदि का पाठ करना चाहिए  
राहु देव को प्रसन्न करने का आज विशेष दिन है
नवनाग स्त्रोत के 51 पाठ करे आज राहु काल मे शिवलिगं के पास बैठकर तथा शिवलिगं पर काले तिल शहद दुध दही गगां जल एक बाल्टी जल मे डालकर जलाभिषेक करे तथा पुन साफ जल से शिवलिगं को स्नान कराये
5 आटे की गाय बनाकर हल्दी ओर शहद लगाकर उनपर शिवलिगं के पास रखे नवनाग स्त्रोत पढने के बाद वह गौ माता को खिलादे

और यदि कोई जन्म कुंडली के अनुसार कोई समस्या है अधिक जानकारी या कुंडली   प्र्शन के लिए सशुल्क  परामर्श के लिए संपर्क करे  पंडित शैलेश pathak shubhkundli.com  paytm and call number  9812193781

FOR ASTROLOGY www.shubhkundli.com, FOR JOB www.uniqueinstitutes.org

No comments:

.

https://bigrock-in.sjv.io/c/1165065/387593/5632

Total Pageviews

Popular Posts

Video

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Pages

ShareThis

       
   

big

Feature 1