.

New Article

Friday, January 4, 2019

6 जनवरी 2019 को लग रहा है सूर्यग्रहण।

इन 4 राशि वालो पर जमकर होगी खुशियों की बरसात
🌹🌹👉🏻👉🏻🌺🌺✍🏻✍🏻🌷
प्रिय मित्रों/पाठकों, नए साल 2019 में कुछ 5 ग्रहण देखने मिलेंगे। जिसमें तीन सूर्य ग्रहण और दो चंद्र ग्रहण हैं।

ज्योतिषी पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार यह दिन साल का सबसे बड़ा ऐसा दिन होगा, जिस दिन कई तरह के संयोग बन रहे हैं । यह सूर्य ग्रहण पौष अमावस्या के दिन पड़ रहा है । इस दिन रविवार जो कि सूर्य का ही दिन सूर्यग्रहण लगेगा । यह दिन मंत्र सिद्धि और दान-धर्म के लिए बहुत शुब माना जाता हैं । यह सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा, लेकिन जिस तरह से ग्रह संयोग बन रहे हैं उस कारण इसका थोड़ा बहुत असर गुप्त रूप से प्रकृति पर होने वाला हैं ।

पहला सूर्य ग्रहण: नए साल की शुरुआत के साथ ही साल 2019 का पहला सूर्य ग्रहण पड़ेगा। यह सूर्य ग्रहण 6 जनवरी को लगेगा जो कि आंशिक होगा। लेकिन यह ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा।

दूसरा सूर्य ग्रहण: 2019 का दूसरा सूर्य ग्रहण 2 जुलाई के दिन लगेगा। यह पूर्ण ग्रहण होगा। लेकिन यह ग्रहण भी भारत में दिखाई नहीं देगा।

तीसरा सूर्य ग्रहण: साल 2019 का तीसरा और आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को पड़ेगा। यह ग्रहण भारत, सऊदी अरब समेत कई दूसरे देशों में दिखाई देगा।

 पहला चंद्र ग्रहण: 2019 का पहला चंद्रग्रहण 21 जनवरी को लगेगा। यह पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा। इस चंद्र ग्रहण की कुल अवधि 3 घंटे 17 मिनट की होगी।

यह चंद्र ग्रहण अमेरिका, अफ्रिका, यूरोप आदि देशों में दिखेगा।

दूसरा चंद्र ग्रहण: साल 2019 का दूसरा और आखिरी चंद्र ग्रहण 16 जुलाई को लगेगा। यह आंशिक चंद्र ग्रहण होगा। इस ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 58 मिनट की होगी। यह ग्रहण दक्षिण अमेरिका, यूरोप, अफ्रिका, एशिया और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देगा।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति की राशि व्यक्ति के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है।पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति के नाम के अनुसार कुल 12 राशियां निर्धारित की गई हैं। अलग-अलग व्यक्ति के नाम के अनुसार अलग-अलग राशि होती है। सूर्य ग्रहण के बाद 4 राशि के लोगों के भाग्य के द्वार खुलने वाले है। और इनकी किस्मत चमकने वाली है। आइए जानते हैं वो चार राशि कौनसी है। इन 4 राशि के लोगों पर जमकर होगी खुशियों की बरसात होगी अपार धन प्राप्ति।

आपके लिए यह समय बेहद खास होगा, शिक्षा नौकरी और व्यापार के क्षेत्र में किए गए प्रयास सफल होंगे। आपके जीवन में आने वाली सभी प्रकार की विनाशकारी शक्तियों का नाश होगा। आपको भारी धन लाभ होने की संभावना बन रही हैं। बच्‍चों की ओर से शुभ समाचार मिलेगा। आपके हर कार्य में परिवार का साथ रहेगा। किसी नये कार्य को करने से पहले परिवार की सलाह अवश्‍य लें, हालांकि निवेश में लाभ के प्रबल योग हैं। आपका व्यापार एकदम से प्रगति करने वाला है। आप नया व्यापार भी शुरू कर सकते हैं।

आपकी धन संबंधी सभी समस्याएं अब समाप्त होने वाली है। कामकाज के सिलसिले में आपके ऊपर ज़िम्मेदारियों का बोझ बढ़ सकता है वक़ील के पास जाकर क़ानूनी सलाह लेने के लिए अच्छा दिन है। आने वाला समय बहुत ही अच्छा बीतेगा, अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें। इस समय आपको अपने क्रोध को त्याग कर शांति का मार्ग धारण करने की जरूरत है। इन राशि के जातकों को अपने जीवन में सफल होने से कोई नहीं रोक सकता। आपके सभी बिगड़े काम बनने लगेंगे। आपको अपना खोया हुआ सच्चा प्यार मिल सकता है। माता लक्ष्मी का आशीर्वाद आपके ऊपर हमेशा बनी रहेगी।
वे भाग्यशाली राशियाँ सिंह, धनु, तुला और कुंभ राशि है इन राशि वालो पर सूर्यग्रहण के बाद जमकर होगी खुशियों की बरसात।

ज्योतिषाचार्य पण्डिय दयानन्द शास्त्री ने (भारतीय पंचाग के अनुसार ) बताया की साल 2019 का पहला सूर्यग्रहण भारतीय समयानुसार 5 एवं 6 जनवरी (शनिवार -रविवार) 2019 की रात में लगेगा, चूंकि सूर्यग्रहण हमेशा दिन में ही लगता हैं, और यह साल का पहला सूर्यग्रहण विदेशों में ही दिखाई देगा और रात्रिकाल होने के कारण भारत में नहीं दिखाई देगा, और ना ही इसका प्रभाव भारत में नहीं पड़ेगा ।

भारतीय समय के अनुसार सूर्यग्रहण 5 जनवरी की आधी रात में शुरू होकर 6 जनवरी को भारत में सूर्योदय से पूर्व ही समाप्त हो जायेगा ।
🌹🌹👉🏻👉🏻🌷🌷🌺🌺✍🏻✍🏻🌸🌸
ये ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा---
साल का पहला सूर्य ग्रहण भारत भूमि में नहीं दिखाई देगा । इस वजह से यहां इसका कोई प्रभाव नहीं माना जाएगा । यह ग्रहण मध्य-पूर्वी चीन, जापान, उत्तरी-दक्षिणी कोरिया, उत्तर-पूर्वी रूस, मध्य-पूर्वी मंगोलिया, प्रशांत महासागर, अलास्का के पश्चिमी तटों पर दिखाई देगा । चूंकि ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा इसलिए यहां सूतक भी नहीं माना जाएगा । लेकिन ग्रहणकाल में अपने ईष्ट के बीज मंत्र का मानसिक जप अवश्य करें । ऐसा करने से जीवन के सारे दुख दर्द दूर जाते हैं ।
🌹🌹👉🏻👉🏻🌷🌷✍🏻✍🏻🌺🌺
ग्रहण भारत में भले ही दिखाई नहीं दें लेकिन आकाशमंडल में मौजूद अन्य ग्रह इस ग्रहण से अवश्य प्रभावित होंगे और ग्रहों का असर समान रूप से प्रकृति, पर्यावरण और मनुष्यों पर होता है । इसलिए ग्रहणकाल के दौरान सभी राशि वाले जातकों को अपनी-अपनी क्षमता के अनुसार दान धर्म अवश्य करना चाहिए । इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करके गरीबों को भोजन करवाएं, वस्त्र दान करें । नवग्रहों की शांति के लिए नौ तरह के अनाज किसी शिव मंदिर में दान करें । महामृत्युंजय मंत्र की एक माला का जप करते हुए गंगाजल मिले जल से शिवजी का अभिषेक करें । इस दिन पाप कर्म करने से बचें ।
🌹🌹👉🏻👉🏻🌷🌷✍🏻✍🏻🌺🌺
क्या है सूर्य ग्रहण--
किसी खगोलीय पिण्ड का पूर्ण अथवा आंशिक रुप से किसी अन्य पिण्ड से ढक जाना या पीछे आ जाना ग्रहण कहलाता है। जब कोई खगोलीय पिण्ड किसी अन्य पिण्ड द्वारा बाधित होकर नजर नहीं आता, तब ग्रहण होता है। सूर्य प्रकाश पिण्ड है, जिसके चारों ओर ग्रह घूम रहे है। अपनी कक्षाओं में घूमते हुए जब तीन खगोलीय पिण्ड एक रेखा में आ जाते है। तब ग्रहण होता है।

सूर्य ग्रहण तब होता है, जब सूर्य आंशिक अथवा पूर्ण रुप से चन्द्रमा द्वारा आवृ्त हो जाए। इस प्रकार के ग्रहण के लिये चन्दमा का प्रथ्वी और सूर्य के बीच आना आवश्यक है। इससे पृ्थ्वी पर रहने वाले लोगों को सूर्य का आवृ्त भाग नहीं दिखाई देता है।
FOR ASTROLOGY www.shubhkundli.com, FOR JOB www.uniqueinstitutes.org

No comments:

Total Pageviews

Video

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Pages

ShareThis